Breaking

Friday, 6 December 2019

तैलीय त्वचा क्या होती है इसके घरेलू उपाय Home remedies for what is oily skin .


तैलीय त्वचा का मतलब चमकीली चिपचिपी और रूखापन होता है। अधिकतर बीस वर्ष तक के लोगो की त्वचा तैलीय होती है| तैलीय त्वचा मुख्य कारण माने  तो ग्रंथियों की अधिक सक्रियता और इनकी अधिक सक्रियता  का कारण हार्मोन होता है। इसके अलावा मौसम में परिवर्तन के कारण भी त्वचा प्रभावित होती है। अधिकतर तैलीय त्वचा गर्म मौसम में तैलीय ग्रंथिया अधिक सक्रिय हो जाती है। और गर्म मौसम होने पर अधिकतर लोगों पर प्रभाव पड़ता है |
तैलीय त्वचा वाले लोगो को कील मुहांसे की ज्यादा होने की परेशानी होती है। और तैलीय त्वचा होने के फायदे भी बहुत होते है। तैलीय त्वचा वाले लोगो की त्वचा पर झुर्रिया की कम पड़ती है और जल्दी से बुढ़ापा नहीं झलकता है। 
अगर आपको कभी ऐसा महसूस होने लगे तो आप अपनी तब अपनी भावनाओं ,खाने पीने ,स्वास्थ्य और रोजाना की गतिविधियों पर भी ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि त्वचा  का यह परिवर्तन आपको इसका संकेत देता है कि आप कि इन चीजों में किसी न किसी में जरूर आपको असंतुलन आ गया हो। और तब तली हुई चीजों और क्रीम वाले पदार्थो और वसा  युक्त बहार के खाने से बचना चाहिए। 
इसके बजाय तो आप हरी सब्जियों और ताजे ताजे फलो का उपयोग करके इसे थोड़ा बहुत कम किया जा सकता है।  और तैलीय त्वचा वाले लोगो को दिन भर में कम से कम आठ से दस गिलास पानी का सेवन करना चाहिए।  और नींद भी पूर्ण रूप से पूरी करनी चाहिए।  और ताज़ी हवा में व्यायाम करना उपयुक्त रहता है ,जिससे रक्त संचार में सुधार होता है।

तैलीय त्वचा से बचाव के उपचार -  तैलीय त्वचा से बचाव के उपचार - तैलीय त्वचा वाले लोगो को जब शरीर का अतिरिक्त तेल निकलता है तो इसके लिए आपको गरम पानी से त्वचा  को साफ़ करना चाहिए।
चन्दन - तैलीय त्वचा वालों को चन्दन का पाउडर गुलाबजल में मिलाकर इसका लेप करना  चाहिए।  इससे चेहरे के दाग धब्बे मिट जाते है।  इससे कील मुहांसे भी दूर होते है।
गाजर - तैलीय त्वचा वाले लोगों को गाजर के रस से चेहरा धोना कार्य करता है। इससे रंग साफ़ साफ़ भी होता है
नीबू- नीबू के रस तैलीय त्वचा पर दाग धब्बे व किल मुहांसे जल्दी निकलते है।  और चेहरे पर नीबू रगड़ने से  तैलीय त्वचा में बहुत फायदा मिलता है।
सेब- तैलीय त्वचा वाले लोगों को सप्ताह में दो या तीन दिन एक सेब लेकर उसे अच्छे से उसे पीस ले और उसका लेप बना ले ,और उसे चेहरे पर लगाए और जब लेप सुख जाये तो उसे गर्म पानी से अच्छे से साफ कर लेना चाहिए।
बेसन - बेसन तो शायद आप सब जानते हो और नही जानते हो तो आपको चने का पाउडर लेना है और उसे गुलाबजल में मिलाकर उसे अपने चेहरे और शरीर पर लगाना चाहिए और उसे सूखने पर आप स्नान कर ले।  इससे आपके शरीर की  तैलीय त्वचा पर बहुत प्रभाव पड़ता है। 

No comments:

Post a comment