Breaking

Friday, 13 December 2019

नकली ई-मेल और मैसेज से रहे सावधान Beware of fake emails and messages.


आज की दुनिया में इंटरनेट के बढ़ते हुए कदम और तेजी से हो रहे इंटरनेट का इस्तेमाल आम आदमी को बहुत नुकसानदायक और फायदामंद शाबित हो सकता है। लेकिन कुछ लोग इसका गलत इस्तेमाल करके इसका बहुत गलत उपयोग कर रहे है। और इसका रूप अगर देखने को मिलता है ऑनलाइन धोखाधड़ी और साइबर क्राइम है।  और इसको देखते हुए जो लोग ऑनलाइन धोखाधड़ी करने के तरीके खोज रह है उनमे फर्जी ई-मेल के जरिये या फर्जी मैसेज या नकली ऑनलाइन वेबसाइट बनाकर कर रहे है। और इनके अलावा ऐसे बहुत सारे मोबाइल एप्स के जरिये लोगो को लालच देकर उनमे रजिस्ट्रेशन करवा कर उनकी सारी जानकारी ले लेते है।  और उसे फिर हजारो लाखो रुपये की धोखाधड़ी करके उन्हें नुकसान पहूचाते है।
और सरकार इनके खिलाफ कड़े कदम और ठोस एक्शन ले रही है लेकिन इन पर जैसे इंटरनेट के कदम बढ़ रहे है वैसे वैसे इनके भी कदम बढ़ते जा रहे है। और इनसे बचने के लिए हम आपको कुछ जानकारी शेयर कर रहे है। आप इन्हे ध्यान से पढ़े और अपने आप को सतर्क करे।  चलिए जानते है इन जानकारियों के बारे में।

परिचित नाम पर ना करे भरोसा 

  साइबर क्राइम वाले लोग आपको जाने पहचाने नामो से ई-मेल या मैसेज करते है। जिन्हे आप नामो से परिचित हो। अगर आपको किसी परिचित नाम से मैसेज या ई-मेल करे तो आप उन्हें लालच में आकर कभी भी नहीं खोले। और उसकी पूरी जांच पड़ताल करने के बाद ही कोई एक्शन ले। और हैकर्स आपको सलाह भी देंगे की आप पहले इनकी जानकारी दी गयी ई-मेल पर चेक कर ले। और फिर आप उस ई-मेल को ओपन करते है जैसे ही वो आपकी जानकारी मांगते है जैसे की आपका पूरा नाम , आपका मोबाइल नंबर ,या बैंक डिटेल्स ,आप भूल कर भी ऐसा ना करे। आप इनका पता कैसे करे

Step 1. Uniform Resource Locator (URL ) की गलती
 
यदि आपके पास कोई यूआरएल या कोई वेबसाइट की लिंक आये तो आप उसे ओपन करके उसे पहचाने जिसमे आपको पॉप उप विंडो वाला निशान दिखाई देने लगेगा। जिसमे आपको एचटीटीपी(HTTP) या  एचटीटीपीएस (HTTPS) से आप असली और नकली लिंक का पता लगा सकते है।

अपनी निजी जानकारी कभी ना करे शेयर
 
 साइबर क्राइम या हैकर्स कई बार लोगों को अपना शिकार या जाल में फ़साने के लिए वो एक मेल या मैसेज करते है जिसमे वो आपसे आपकी निजी मांगते है। तो आप ऐसा बिल्कुल भी ना करे। जिसमे वो आप से आपका नाम , या आपका बैंक अकाउंट की डिटेल्स जैसे डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के पिन या किसी भी प्रकार की जानकारी न दे।  इससे आप अपना नुकसान होने से बच सकते है।

अटेचमेंट फाइलों से दूर रहे 

कई बार साइबर क्राइम करने वाले या हैकर्स ई-मेल या मैसेजमें आपको एक लिंक भेज देंगे जिसमे आपको या तो अपने मोबाइल में इनस्टॉल या एक्टिवटे करने के मैसेज के लिए allow का ऑप्शन देते है जिसमे वो आपसे सारी डिटेल्स आटोमेटिक हैक कर लेते है। और आपकी सारी चुरा लेते है। और यदि आपको ऐसे मेल प्राप्त हो तो आप उन्हें डिलीट कर देवे जिससे आप बच सके। और आपको दिन भर बहुत ऐसे मेल या मैसेज आते ही होंगे जिसमे आपको कुछ मोबाइल नंबर देके आपको आपके खाते में इतने रुपया क्रेडिट हो जायँगे तो आप इनसे जरुर बचे और इन पर ध्यान न दे।

No comments:

Post a comment